शनिवार, 10 जनवरी 2009

नया अध्याय - समय और कार्य

समय और कार्य

आज से मैं एक नया अध्याय शुरू कर रहा हूँ । वह है समय और कार्य। हलाकि पुराने विषयों पर भी चर्चा जारी रहेगी । समय और कार्य के सम्बन्ध में कुछ मूलभूत सिधान्तों पर चर्चा करके फ़िर आगे बढ़ते हैं । यदि कोई आदमी किसी कार्य को ४ चार दिन में पूरा कर लेता है तो इसका मतलब हुआ की वह एक दिन में १/४ कार्य कर लेगा अरथां पूरे कार्य का चौथाई हिस्सा या २५ % कर लेगा । चार दिन में किया गया कार्य होगा (१/४)x ४ = १ यानी की पूरा कार्य हो गया।

इसी प्रकार यदि कोई व्यकित दो दिन में किसी कार्य को पूरा कर लेता है तो एक दिन में १/२ कार्य कर लेगा तो वह २ दिन में कार्य पूरा कर लेगा । यदि दो व्यक्ति हो तो यही कार्य १/२ + १/२ = १ अर्थात कार्य पूरा । अर्थात दो आदमी इसको एक दिन में ही पूरा कर लेगे।

यदि एक आदमी दो दिन में कोई कार्य करता है और दूसरा आदमी उसी कार्य को ३ दिन में पूरा करता है तो दोनों एक दिन में १/२ + १/३ = ५/६ कार्य कर लेगे । तो एक साथ वह काम को ६/५ दिन अर्थात १ सही १/५ दिन में कर लेंगे ।

मैंने पहले कहा था की मैं बेसिक बातों पर यहाँ पर चर्चा नही करूंगा । परन्तु थोड़ा बेसिक समझाना अच्छा रहता है ।
अगली पोस्ट से हम प्रश्नों को हल करना शुरू कर देंगे ।

सुशील दीक्षित

1 टिप्पणियाँ:

अरविन्द चतुर्वेदी Arvind Chaturvedi ने कहा…

आपका ब्लोग पहली बार देखा.अच्छा लगा.प्रतियोगिता में शामिल होने वाले इसे अवश्य उपयोगी पायेंगे.

एक टिप्पणी भेजें